Special, Akshay tritiya, अक्षय तृतीया 11 वर्षों बाद ऐसा सुभ संयोग , क्या करें, क्या न करें

नमस्कार दोस्तों मैं आज इस बार के अक्षय तृतीया Special Akshya tritiya में होनेवाले सुभ संयोग के बारे मे कुछ विशेष बातें बताने जा रहा हूँ। कृपया ध्यान दें।

इस बार धनतेरस जैसा या यूं कहें उससे भी अच्छा संयोग बन रहा है अक्षय तृतीया में।
इस बार अक्षय तृतीया के अवधि में चंद्रमा अपनी उच्च राशि मे रहेगा जिस कारण ऐसा संयोग बन रहा है।
11 वर्षों बाद ऐसा समय आया है जब अक्षय तृतीया पर सर्वार्थ सिद्धि योग रहेगा।

इससे संबंधित कुछ विशेष महत्व की बातें

अक्षय तृतीया एक ऐसी तिथि होती है जिसमें मुहूर्त का विचार किये बिना आप निःसंकोच कोई भी सुभ कार्य कर सकते हैं क्योंकि इस तिथि को अबूझ मुहूर्त भी माना जाता है।

इस बार इस तिथि को भगवान विष्णु के अवतार परशुराम जी की जयंती भी है इसलिए यह और भी सुभ संयोग बन रहा है।

अवधि

18 अप्रेल को प्रातः 4:47 से रात 3:03 बजे तक।

महत्व

इस दिन सभी सुभ कार्य किये जा सकते है, इस मुहूर्त में खरीदारी करने से धन का क्षय नहीं होता है। कमल या गुलाब के फूलों से लक्ष्मी नारायण की पूजा करने से माता लक्ष्मी जी की असीम कृपा प्राप्त होती है।

कब खरीदारी नहीं करें

इस दिन दोपहर 12 बजे से 1:30 बजे तक राहुकाल रहेगा इसलिए इस अवधि में कोई खरीदारी न करें।

क्या खरीदें

इस दिन भी धनतेरस की तरह सोना-चांदी खरीदना चाहिए साथ ही गेहूँ , चावल और रसोई में काम आनेवाली वस्तुओं को खरीदना भी सुबह माना जाता है।

यहाँ से खरीद सकते है समान, मिल रहा है जबरदस्त अक्षय तृतीया ऑफर

3 thoughts on “Special, Akshay tritiya, अक्षय तृतीया 11 वर्षों बाद ऐसा सुभ संयोग , क्या करें, क्या न करें”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *